Children’s Day in Hindi – बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

Children’s Day in Hindi – बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

इवेंटस

भारत में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है । बाल दिवस को English में Children’s Day भी कहा जाता है।  14 November  को First Prime Minister of India, Pandit Jawaharlal Nehru का जन्म हुआ था। उन्हें बच्चे बहुत प्रिय थे। बच्चे भी उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर बुलाते थे. नेहरू के Birthday को  Bal Divas  मनाया जाता है।  इस दिन बच्चों के अधिकारों और शिक्षा के बारे में लोगों को जागरुक करने के लिए कई अभियान चलाए जाते हैं। Children’s Day  के दिन कई स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती है और बच्चों के लिए खेल कूद का आयोजन होता है। आइये जानते हैं बाल दिवस क्यों और कब मनाया जाता  है

बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

देश भर में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस  के रूप में मनाया जाता है। 14 November  को भारत के पहले First Prime Minister Pandit Jawaharlal Nehru का जन्म हुआ था। उन्हें बच्चे बहुत प्रिय थे। बच्चे भी उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर बुलाते थे। नेहरू के जन्मदिन के रूप में Bal Divasमनाया जाता है।

बाल दिवस का महत्‍व

यह दिन हम सबके लिए एक reminder के रूप में काम करता है, यह बच्चोके welfare के प्रति हमारी commitment  को याद दिलाता है और Chacha Nehru के मूल्‍यों और Chacha  के  examplesको अपनाना सिखाता है। Children’s Day पर सभी बच्चों को सक्षम बनाने के विषय पर विचार करना चाहिए। Bal Diwas पूरे विश्व में अलग-अलग दिन मनाया जाता है। World Children’s Day का बहुत महत्व है , लेकिन इसको मनाने का उद्देश्य हर जगह एक ही है – बच्चों के अधिकारों की रक्षा करना और उन्हें मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाना। उन्हें सही Education, nutrition, culture मिले इस बात का ध्यान रखा जाता है। देश के future generations के लिए  इस दिन को चुना गया है। हमारे देश में child abuse और child labor को देखते हुए इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है। ताकि हम इस दिन ये प्रण ले सके की बच्चों के प्रति होने वाले हर exploitation को खत्म किया जा सके।

बाल दिवस का इतिहास  – History of Children’s Day

बाल दिवस का इतिहास बहुत खास है,विभिन्न देशों में अलग-अलग तारीखों पर बाल दिवस मनाया जाता है। भारत में Children’s Day 1964 में Former Prime Minister of India के निधन के बाद से मनाया जाने लगा। सर्वसहमति से ये फैसला लिया गया कि नेहरू के जन्मदिन पर बाल दिवस मनाया जाएगा। वैसे तो बाल दिवस साल 1925 से ही मनाया जाने लगा था, लेकिन UAN ने 20 नवंबर 1954 को Bal Diwas  मनाने की घोषणा की थी। नेहरू का कहना था, बच्चों की देखभाल हमेशा प्यार से करनी चाहिए ताकी वे आगे जाकर एक सफल और जिम्मेदार नागरिक बन सकें।

बाल दिवस किस की याद में मनाते हैं

बाल दिवस हर साल 14 नवंबर को देश के पहले प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू की याद में मनाते हैं। वे चाहते थे बच्चों को अच्छा education और encouragement मिले जिसके लिए उन्होने कई योजनाएं भी चलाई।  Chacha Nehru बच्चों में बहुत लोकप्रिय रहे क्योंकि वे बच्चों को बहुत प्यार करते थे। बच्चे उनके साथ मौका मिलने पर फोटो भी खिचवाते। चाचा नेहरू का मानना था, बच्चों के मन शीशे के समान साफ और सच्चा होता है। 

यह भी पढ़े: जवाहर लाल नेहरू की जीवनी

14 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है Children’s Day?

UAN ने 20 नवंबर 1954 को बालदिवस मनाने की घोषणा की थी। भारत में पंडितनेहरू के निधन से पहले 20 नवंबर को ही Bal Diwas मनाया जाता था लेकिन 27 मई1964 को उनके निधन के बाद सर्वसम्मति से यह फैसला हुआ कि अब से बालदिवस हर साल 14 नवंबरको मनाया जाएगा। इसकी वजह थी कि 14 नवंबर को नेहरू का जन्‍मदिन पड़ता था और वह बच्‍चों से काफी ज्‍यादा प्‍यार करते थे। यही वजह थी कि बच्‍चे उन्‍हें ‘चाचानेहरू‘ कहकर पुकारते थे। बालदिवस का आयोजन देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों के महत्व को बताता है। साथ ही इस दिन बालअधिकारों के प्रति लोगों को जागरुक किया जाता है।

भारत में बाल दिवस कब मनाया जाता है – Children’s Day celebrated in India

भारत में 14 नवंबर को हर बाल दिवस यानि  Children’s Day  बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। 27 मई 1964 को Pandit Jawaharlal Nehru के निधन के बाद बच्चों के प्रति उनके प्यार को देखते हुए सर्वसम्मति से यह फैसला किया गया कि अब से हर साल 14 नवंबर को  Nehru के Birthday पर बाल दिवस मनाया जाएगा और Children’s Day Program आयोजित किया जाएगा।

क्या करते हैं Children’s Day पर

14 November  को देश के पहले  Pandit Jawaharlal Nehru की जंयती होती है। Children’s Day  के दिन कई स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती है और बच्चों के लिए खेल कूद का आयोजन होता है। कई स्कूलों में  Bal Diwas के दिन बच्चों को पिकनिक पर ले जाया जाता है।  Children’s Day के दिन बच्चों को गिफ्ट्स दिए जाते हैं। बाल दिवस उत्सव का आयोजन देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों के महत्व को बताता है। साथ ही इस दिन बाल अधिकारों के प्रति लोगों को जागरुक किया जाता है. ये बेहद जरूरी है कि बच्चों को सही शिक्षा, पोषण, संस्कार मिले क्योंकि बच्चे ही देश का भविष्य है।

बाल दिवस पर होने वाले कार्यक्रम – Children’s Day Activities

बाल दिवस पर स्कूलों में Children’s Day activities का आयोजन किया जाता है Children’s Day activities से बच्चों ने Enthusiasm और passion के साथ भाग लेते हैं।  खेल प्रतियोगिताओं में साइकिल दौड़, कुश्ती, क्रिकेट और फुटबाल के मैच करवाए जाते हैं  । खेल प्रतियोगिता के साथ-साथ cultural programme भी आयोजित किए जाते हैं।  Children’s Day  के दिन कई स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती है और बच्चों के लिए खेल कूद का आयोजन होता है।  Bal Diwas उत्सव का आयोजन देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों के महत्व को बताता है।साथ ही इस दिन बाल अधिकारों के प्रति लोगों को जागरुक किया जाता है। ये बेहद जरूरी है कि बच्चों को सही Education, nutrition, culture मिले क्योंकि बच्चे ही देश का भविष्य है। 

यह रहे कुछ Children’s Day Activities:

  • विशेषकर विद्यालयों में Bal Diwas के उपलक्ष्य में आयोजन किये जाते हैं। कई तरह की contest रखी जाती हैं।
  • कई तरह के नाटकों का आयोजन किया जाता हैं, Dance, singing और speech का भी आयोजन किया जाता हैं।
  • बच्चो के लिए खासतौर पर मनाये जाने वाले इस त्यौहार में बच्चों को उनके अधिकारों, उनके कर्तव्यों के बारे में अवगत कराया जाता हैं।
  • छोटे-छोटे बच्चों के entertainment के लिये Picnic एवम कई खेल कूद का आयोजन किया जाता हैं।
  • इस दिन radio पर भी कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं जो बच्चो को मार्गदर्शन प्रदान करते हैं।

इस तरह पुरे देश में स्कूल ,सरकारी संस्थाओं एवम कॉलोनी में बाल दिवस का त्यौहार मनाया जाता हैं।  बच्चो के उत्साह को बढ़ाने के लिये कई प्रतियोगिता रखी जाती हैं जिससे उनके अंदर के कई गुणों का पता चलता  है।

स्कूल में बाल दिवस पर क्या कार्यक्रम करवाए– How to Celebrate Children’s Day in School in Hindi?

हर वर्ष 14 नवंबर को पूरे उत्साह के साथ भारत में बाल दिवस को मनाया जाता है। इसे शिक्षकों और विद्यार्थियों के द्वारा स्कूल और कॉलेजों में पूरे जूनून और उत्सुकता के साथ मनाया जाता है। इसमें बच्चों द्वारा कई सारे program और Activity में भाग लिया जाता है। स्कूल की इमारत को अलग-अलग रंगों, गुब्बारों और दूसरे सजावटी वस्तुओं से सजाया जाता है। Children’s Day 14 नवंबर को Pandit Jawaharlal Nehru  के जन्म दिन के अवसर पर मनाया जाता है क्योंकि वो बच्चों से बहुत प्यार करते थे। देश के लिये Jawaharlal Nehru के महान कार्यों को याद करने के लिये Dance, song, poem, Hindi और English मेंतथा speech, Kabaddi, race, rope jump, fair आदि इवेंट्स होते हैं जिसमें बच्चे भाग लेते हैं। बच्चे इस दिन खूब मौज-मस्ती करते हैं क्योंकि वह कोई भी दूसरा रंग-बिरंगा कपड़ा पहन सकते है।Festival खत्म होने के बाद students को दोपहर के Delicious food के साथ मिठाई भी बाँटी जाती है। अपने प्यारे students के लिये teachers भी कई Cultural events में भाग लेते है जैसे ड्रामा, डांस आदि।

बाल दिवस की खास बातें

  • हर वर्ष भारत में 14 नवम्बर को पूरे उत्साह के साथ बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • बाल दिवस के रूप में भारत के First Prime Minister Jawaharlal Nehru’s Birthday 14 नवम्बर को मनाया जाता है।
  • Jawaharlal Nehru को बच्चो से बहुत स्नेह और लगाव था। वे अपना समय बच्चों के आसपास बिताना पसंद करते थे।
  • बच्चे प्यार से उन्हें चाचानेहरूकहकर बुलाते थे।
  • बच्चे किसी भी राष्ट्र के भावी निर्माता होते हैं। वे बड़े होकर विभिन्न पदों पर आसीन होते हैं। इसके लिए उन्हें उचित मार्गदर्शन की जरूरत होती है।
  • पंडितजवाहरलालनेहरूप्रधानमंत्री के रूप में कार्य करते हुए भी बच्चों के लिए समय निकालते थे।
  • सभी विद्यालयों में Children’s Day के दिन विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।
  • उनके लिए बहुत सारे प्रतियोगिताओं जैसे नृत्यसंगीतचित्रकलाकहानीलेखन इत्यादि का आयोजन किया जाता है।
  • उन्हें मिठाईयांबांटी जाती है और वेरंगबिरंगेकपड़ों में विद्यालय पहुंचते हैं।
  • बालदिवस के दिन बच्चों को उनके अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में भी बताया जाता है।

World Children’s Day

दुनिया में अलग अलग दिन बाल दिवस मनाया जाता है।  20 नवंबर को विश्वभर में अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस (World Children’s Day) के रूप में मनाया जाता है। इसकी शुरुआत United Nations ने 1954 में की थी. International Children’s Day बच्चों से जुड़े मुद्दों के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है।

20 November का बाल दिवस के रूप में महत्व इसलिए और बढ़ जाता है क्योंकि आज ही के दिन 1959 में United Nations की आम सभा (General assembly) ने बाल अधिकारों की घोषणा की थी। Adults से अलग बच्चों के अधिकारों को बाल अधिकार कहा जाता है. बाल अधिकारों को चार अलग-अलग भांगों में बांटा गया है – Right to Life,Right of ProtectionRight to Participation और Right to Development ।  यानी अगर हमें अपना भविष्य संवारना है तो बच्चों को तंदुरुस्त और साक्षर बनाना होगा।

बाल दिवस का चार्ट

अलग-अलग देशों में अलग-अलग दिन Bal Diwas मनाया जाता है। यह बताने के लिए हमने एक चार्ट बनाया है जिसमें आप देख सकते हैं की किस किस दिन कौन कौन से देश में  Universal Children’s Day मनाया जाता है।  जानने के लिए नीचे दिए हुए बाल दिवस का चार्ट देख सकते हैं।

क्रमांकदेशकानामतारीख
1.बहमासजनवरी का पहला शुक्रवार
2.थाईलैंडजनवरी का दूसरा शनिवार
3.न्यूजीलैंडमार्च का पहला रविवार
4बांग्लादेश17 मार्च
5चाइना हांगकांग4 अप्रैल
6.तुर्की23 अप्रैल
7.मैक्सिको30 अप्रैल
8.जापानसाउथकोरिया5 मई
9.मालदीव10 मई
10.यूनाइटेडस्टेटजून का दूसरा रविवार
11.पाकिस्तान1 जुलाई
12.इंडोनेशिया23 जुलाई
13.अर्जेंटीनापेरूअगस्त का तीसरा रविवार
14.जर्मनी20 सितम्बर
15.सिंगापूरअक्टूबर का पहला शुक्रवार
16.ऑस्ट्रेलियामलेशियाअक्टूबर का चौथा शनिवार
17.दक्षिणअफ्रीकानवम्बर का पहला शनिवार
18.भारत14 नवंबर
19.कैनेडा, फ्रांस, ग्रीस, आयरलैंड,
इजराइल, केन्या, मलेशिया, फिलिपिन्स,
सर्बिआ, स्पेन, स्वीडन, स्विट्ज़रलैंड,
यूनाइटेड किंगडम
20 नवम्बर
20.ब्राजील12 अक्टूबर
21.ईरान8 अक्टूबर
World Children’s Day List

Happy Children’s Day  Wishes, Messages  और Whatsapp Status

आपके लिए हम लाए हैं Happy Children’s Day  Wishes, Mesages  और Whatsapp Status, जो आप अपने साथियों को भेज सकते हैं।बच्चों के साथ शेयर कर सकते हैं।

Children’s Day Funny Quotes in Hindi

मां की कहानी थी, परियों का फसाना था बारिश में कागज की नाव थी, बचपन का वह हर मौसम सुहाना था.. बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!..

अगर आप दुनिया भर की और अलग-अलग जाति, धर्म और रंग-रूप के बच्चों को एक साथ ले आएंगे तो साथ खेलेंगे या शोर मचाएंगे.. उनका शोर मचाना भी एक तरह का खेल है. बच्चे आपस में भेदभाव नहीं करते. -जवाहर लाल नेहरू..

मैडम आज ना डांटना हमको
साल भर हमने किया इंतज़ार
आज हम बाल दिवस मनाएंगे
बाल दिवस की शुभकामनाएं

चाचा का है आज जन्मदिन
सभी बच्चे आएंगे
चाचा जी को फूल गुलाब से
हम बच्चे सब महकाएंगे
बाल दिवस की शुभकामनाएं…..

देश की प्रगति का हम है आधार
हम करेंगे चाचा नेहरू के सपने साकार
बाल दिवस की शुभकामनाएं…

Children’s Day Shayari in Hindi

अब तक हमारी उम्र का बचपन नहीं गया
घर से चले थे जेब के पैसे गिरा दिए
– नश्तर ख़ानक़ाही

असीर-ए-पंजा-ए-अहद-ए-शबाब कर के मुझे
कहाँ गया मिरा बचपन ख़राब कर के मुझे
– मुज़्तर ख़ैराबादी

बड़ी हसरत से इंसाँ बचपने को याद करता है
ये फल पक कर दोबारा चाहता है ख़ाम हो जाए
– नुशूर वाहिदी

बच्चों के छोटे हाथों को चाँद सितारे छूने दो
चार किताबें पढ़ कर ये भी हम जैसे हो जाएँगे
– निदा फ़ाज़ली

भूक चेहरों पे लिए चाँद से प्यारे बच्चे
बेचते फिरते हैं गलियों में ग़ुबारे बच्चे
– बेदिल हैदरी

Children’s Day Whatsapp Status

इस दिन हर एक बाप को अपने बच्चे की याद आती है
और इसलिए मुझे भी तुम्हारी याद आई है
अब ये मेसेज मुझे वापिस भेज कर
अपने बाप के साथ बतमीज मत करना
“Happy Baldiwas”

खबर ना होती कुछ सुबह की
ना कोई शाम का ठिकाना था
थके हार कर आना स्कूल से
पर खेलने तो जरूर जाना था |
” हैप्पी बालदिवस”

रोने की वजह ना थी
ना हंसने का बहाना था
क्यों हो गए हम इतने बड़े
इससे अच्छा तो वो बचपन का ज़माना था।
Happy Bal Diwas

हर खेल में साथी थे, हर रिश्ता निभाना था
गम की जुबान ना होती थी, ना ज़ख्मों का पैमाना था
सच में यार, वो बचपन बहुत प्यारा था।
Happy Bal Diwas

चाचा नेहरू तुझे सलाम
अमन शांति का दे पैगाम
जग को जंग से तूने बचाया
हम बच्चों को भी मनाया
किया अपना जन्मदिवस बच्चों के नाम
चाचा नेहरू तुझे सलाम।
बाल दिवस मुबारक…

Children’s Day Quotes in Hindi

बाल दिवस है जन्मदिवस चाचा का, ये है हमको सबसे प्यारा, काश आज भी चाचा होते पास हमारे, इनका प्यार है सबसे न्यारा।

देश के प्रगति के हम है आधार, हम करेंगे चाचा नेहरु के सपने को साकार, Happy Children’s Day

चाचा का हैं जन्मदिवस सभी बच्चे आएँगी, चाचा जी को गुलाब फूल देकर सारा समां महकाएँगे! Happy Children’s Day

बच्चों को सिखाया जाना चाहिए कि, सोचने के लिए नहीं बल्कि कैसे सोचें।

एक बचपन का ज़माना था, होता जब खुशियों का खज़ाना था, चाहत होती चाँद को पाने की, पर दिल तो रंगबिरंगी तितली का दिवाना था!

सारांश

मुझे आशा है कि आपको मेरा यह लेख “Children’s Day in Hindi – बाल दिवस क्यों मनाया जाता है” बहुत पसंद आया होगा और आपको यह उपयोगी और प्रेरक लगा होगा.  मेरी यही कोशिश है कि मैं अपने रिडर्स को इसके बारे में पूरी जानकारी दूं जिससे सम्बंधित विषय से आपको जानकारी  के लिए कहीं और खोजना न पड़े  और आपका समय और मेहनत दोनों बचे।  यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म  फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर सकते हैं.और  हाँ अगर कोई टॉपिक छूट गया हो या फिर आपका कोई सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।  हम उस पर अमल करने की पूरी कोशिश करेंगे। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *