Gandhi Jayanti in Hindi – गाँधी जयंती के बारे में

Gandhi Jayanti in Hindi – गाँधी जयंती के बारे में

Lifestyle इवेंटस

भारत समेत संपूर्ण विश्व में 2 अक्टूबर  के दिन को महात्मा गांधी के जन्मदिन को गाँधी जयंती (Gandhi Jayanti) के रूप में मनाया जाता है. 2 अक्टूबर के दिन का India  ही नहीं विश्व के इतिहास में भी एक खास महत्व है. भारत में Independence day और Republic Day की तरह ही 2 अक्टूबर को भी  National festival  का दर्जा हासिल है. यह दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज है. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म 2 October  1869 को गुजरात को  Porbandar  में हुआ था। गांधी जी के विचारों का प्रभाव भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व पर पड़ा. गांधी जी ने  India की आजादी में बड़ी भूमिका निभाई थी और आज भी उनके विचार हर भारतीय के मन को प्रभावित करता है.

गांधी जयंती  2 October  को पूरे उल्लास के साथ मनाया जाता है. इस दिन सरकारी अधिकारियों द्वारा Delhi के राजघाट पर तैयारियां की जाती हैं. Raj Ghat  Father of the Nation Mahatma Gandhi का समाधि स्थान है. इस दिन राजघाट के समाधि स्थल को फूलों से सजाया जाता है और देश के सभी नेता Raj Ghat  पर आकर देश के राष्ट्रपिता  Father of the Nation   को श्रद्धांजलि देते है. समाधि के स्थान पर 2 अक्टूबर को सुबह प्रार्थना भी होती है और महात्मा गांधी जी के द्वारा दिए गए बलिदान को याद किया जाता है. देश को आजादी दिलाने के अनोखे तरीके को भी याद किया जाता है. क्योंकि बापू   ने हमेशा अहिंसा का रास्ता चुना और अहिंसा का रास्ता चुनने की सीख दी.

गांधी जयंती कब मनाई जाती है

Gandhi Jayanti  हर साल 2 October को Gandhi ji के जन्मदिन पर, मनाई जाती है. 2 इस दिन को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. गांधी जी विश्व भर में उनके Non-violent movement के लिए जाने जाते हैं और यह दिवस उनके प्रति global scale पर सम्मान व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है. गांधी जी कहते थे कि अहिंसा एक दर्शन है, एक सिद्धांत है और एक अनुभव है जिसके आधार पर समाज का बेहतर निर्माण करना संभव है.

गांधी जयंती क्यों मनाई जाती है?

महात्मा गांधी जी का पूरा नाम Mohandas Karamchand Gandhi है. उन्हें राष्ट्रपिता, बापू के नाम से भी संबोधित किया जाता है.भारत में और दुनिया भर में महात्मा गांधी को सादे जीवन, सरलता और समर्पण के साथ जीवन जीने के सर्वोत्तम आदर्श के रूप में सराहा जाता है. उनके सिद्धांतों को पूरी दुनिया ने अपनाया है. उनका जीवन अपने आप में एक प्रेरणा है. इसलिए ही उनके जन्मदिन पर यानी 2 अक्टूबर को गांधी जयंती  के रूप में मनाई जाती है.

महात्मा गांधी – Mahatma Gandhi

बापू का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी  Mohandas Karamchand Gandhi   था. अहिंसा आंदोलन के दम पर देश को आजादी दिलाने वाले Bapu आज भी लोगों के दिलों में जिंदा हैं. London में कानून की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने कुछ दिन बंबई में वकालत का काम खोजने की कोशिश की. South Africa में रह रहे 60 हजार भारतीयों के लिए उन्होंने  Indian Opinion  नाम का अखबार निकाला. और यहां से Gandhi का एक शर्मीले और बहुत कम सामाजिक इंसान से सक्रिय और बेबाक नेता के रूप में रूपांतरण शुरू हुआ.

1914 में गांधीजी भारत लौटे और 1920 में वह Congress leader बन गए. 1930 में  Salt Satyagraha  के रूप में उन्होंने अपने अहिंसक आंदोलन का चमत्कारिक प्रदर्शन किया. Dandi March  ने British Government को अचंभित कर दिया. 1942 में गांधीजी ने  Complete independence   की मांग की जिसके लिए उन्हें जेल जाना पड़ा.

गांधी जयंती का इतिहास -Gandhi Jayanti History

Gandhi Jayanti हर साल 2 अक्टूबर को मनाई जाती है. 2 अक्टूबर के दिन गांधी जी का जन्म हुआ था.  इस दिन को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. गांधी जी विश्व भर में उनके अहिंसात्मक आंदोलन के लिए जाने जाते हैं और यह दिवस उनके प्रति वैश्विक स्तर पर सम्मान व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है. Gandhi जी कहते थे कि अहिंसा एक दर्शन है, एक सिद्धांत है और एक अनुभव है जिसके आधार पर समाज का बेहतर निर्माण करना संभव है.

Gandhi Jayanti कैसे मनाई जाती है – How is Gandhi Jayanti Celebrated

  • भारत में Gandhi Jayanti, प्रार्थना सभाओं और Rajghat New Delhi में गांधी प्रतिमा के सामने श्रद्धांजलि देकर National holidays के रूप में मनाई जाती है.
  • Mahatma Gandhi की समाधि पर President  और prime minister of India  की उपस्थिति में प्रार्थना आयोजित की जाती है, जहां उनका अंतिम संस्कार किया गया था.
  • उनका सबसे पसंदीदा और भक्ति गीत रघुपति राघव राजा राम उनकी स्मरति में गया जाता है.
  • पूरे भारत में इस दिवस को International Day of Non-Violence  के रूप में भी आयोजित किया जाता है.
  • अधिकतर स्कूलों में एक दिन पहले ही गांधी जयंती का उत्सव मनाया जाता है. ये सभी उत्सव जीवन के उन सिद्धांतों को प्रभावित करते हैं जो कि गांधी जी ने बताए थे: अनुशासन, शांति, ईमानदारी, अहिंसा और विश्वास.
  • भारत में कई स्थानों पर लोग Bapu के प्रसिद्ध गीत “रघुपति राघव राजा राम” को गाते हैं, प्रार्थना करते हैं और Memorial ceremony के माध्यम से गांधी जी को tribute  देते हैं.
  • इस दिवस को Art, science exhibitions  और essays   की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. साथ ही अहिंसा और शांति को बढ़ावा देने के लिए पुरस्कार और सम्मान प्रदान किये जाते हैं.

Conclusion

Gandhi Jayanti  का जश्न मनाने का उद्देश्य Mahatma Gandhi  के दर्शन, सिद्धांतों और अनमोल विचारों को लोगों तक पहुँचाना है और दुनिया भर में लोगों में अहिंसा और विश्वास की भावना उत्पन्न कराना है.इन तरीकों से, हम हर साल हमारे महान नेता को दिल से श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं. हम बापू को हर Gandhi Jayanti  पर उनके महान कर्मों के लिए याद करते हैं. Gandhi ji के अनुसार, आज़ादी प्राप्त करने के लिए सच्चाई और अहिंसा को ही एकमात्र साधन मानते थे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *